पाकिस्तान अपने ही बुने जाल में फंसते जा रहे है, तालिबनियो की स्वतंत्र जीत को पाकिस्तान अपनी सहयोगात्मक जीत बता रही है, और इसी खुशी में पाकिस्तान अफगानिस्तान के पँचसीर वैली में नरसंहार किया बिना परमिट परमिशन के अब कहि पाकिस्तान को आतंकवादियों को शरण देने वाला देश कहि घोषित न कर दे विश्व के अन्य देश।:- नया भारत..

पाकिस्तान अपने ही बुने जाल में फंसते जा रहे है, तालिबनियो की स्वतंत्र जीत को पाकिस्तान अपनी सहयोगात्मक जीत बता रही है, और इसी खुशी में पाकिस्तान अफगानिस्तान के पँचसीर वैली में नरसंहार किया बिना परमिट परमिशन के अब कहि  पाकिस्तान को आतंकवादियों  को शरण देने वाला देश कहि घोषित न कर दे विश्व के अन्य देश।:- नया भारत..

NBL. 13 सितंबर 2021 नया भारत न्यूज से लोकेश्वर प्रसाद वर्मा की जमीनी स्तर की ग्राउंड रिपोर्ट.. आज पाकिस्तान आने वाले समय मे बहुत बड़े संकटो में फंसने वाला है और उसका जिम्मेदार पाकिस्तान देश के प्रधानमंत्री इमरान खान स्वंय है।

पाकिस्तान देश तालिबनियो की स्वतंत्रता को अपनी सहयोगात्मक सहयोग बता रही है। और वाहवाही लूट रही है और पूरा विश्व देख रही है पाकिस्तान के गलत कारनामो को और अफगानिस्तान के सरजमीं पँचसीर वैली वाले स्थान में पाकिस्तान ने अपनी लड़ाकू ड्रोन से बमबारी कर वहां के बहुत से बेगुनाह इंसानो की नृशंस हत्या नरसंहार किया जिसको पूरा विश्व ने देखा। और अफगानिस्तान में उस वक्त तालिबनियो द्वारा सरकार की गठन भी नही किया था। तो कौन सी ताकत परमिट परमिशन के आदेश लेकर पाकिस्तान अफगानिस्तान के सरजमी पँचसीर वैली में बम बरसाया ये सवाल विश्व के हर देश के जहन में उभरकर आ रही है।

अब ये सवाल विश्व के अन्य हर देश को करनी चाहिए पाकिस्तान से और वहाँ के सैन्य प्रशासन और देश के प्रधानमंत्री इमरान खान से। क्या अफगानिस्तान के सरजमी पँचसीर वैली में बमबारी कराने के लिए क्या तालिबानी प्रमुख ने पाकिस्तान देश को परमिशन दिया अगर दिया है तो किस बेस पर क्योकि तालिबनियो द्वारा सरकार की गठन नही किया था उस वक्त अफगानिस्तान में। 

पाकिस्तान के इस हरकत से पूरा विश्व स्तब्द्ध है।  क्या वाकई पाकिस्तान देश की रिमोट कंट्रोल है तालिबान या उनके सहयोगी है पाकिस्तान  या आतंकवादियों की जन्मदाता है पाकिस्तान अब सवाल उभरकर आ रही है विश्व के अन्य देशों से। क्योकि पाकिस्तान के लाल मस्जिद के मौलाना का बेबाक बातो को सुनकर पूरा विश्व हैरान परेशान है। पाकिस्तान के लाल मस्जिद के मौलाना ने कहा पूरा विश्व सम्भल जाए क्योंकि हम मुजाहिरो और आई एस आई एस आतँकवादी के पनाहगाह है और आतंकवादियों के मास्टर है। और तालिबनियो को स्वतंत्रता दिलायी अफगानिस्तान में वैसे हम विश्व के किसी भी देश मे दखल दे सकते है। तालिबानी एक उदाहरण है ऐसा पाकिस्तान के लाल मस्जिद के मौलाना की व्यक्तव्य है।

यहाँ तक कि चर्चा है पाकिस्तान मे आतंकवादी ओसामा बिन लादेन की अमेरिका द्वारा हत्या करना नाजायज है। और पाकिस्तान ओसामा बिन लादेन जैसा आतंकवादी को शरण भी देगी और पैदा भी करेगी।

पाकिस्तान की इस कत्लेआम हरकतों को देखकर पूरा विश्व के अन्य देशों में सुबगुहावट शुरू हो गया है क्या वाकई पाकिस्तान देश अपनी सरजमी में आतंकवादी पैदा कर रही है जो विश्व के किसी भी देश को खतरा हो सकती है।

जबकि पाकिस्तान अभी इस वक्त खराब आर्थिक स्थिति से गुजर रही है। और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को ये सोचना या समझना चाहिए कि सभी विश्व देशो से अच्छा सौम्य सभ्य वैचारिक व्यवहारिक सम्बन्ध बनाये और पाकिस्तान की जनता को विकास की ओर आगे बढ़ाए और पाकिस्तान में शांति स्थापित करे और आतंकवाद को शरण या बढावा बिल्कुल न दे। 

क्योकि पाकिस्तान के मुसलमान जन्मजात आतंकवादी नही होते मदरसों और मौलवी और मौलाना ही सामाजिक धार्मिक और धर्म के आड़ लेकर कट्टरपंथी कट्टरता को पैदा करती है और धर्म की कट्टरता के आड़ लेकर बेगुनाहों की जान लेते है जिसका नाम आतंकवाद है और इस आतंकवाद की कोई जाति धर्म नही होती। क्योंकि सभी मुसलमान या मुस्लिम समुदाय समाज धर्म के इंसान बुरा नही होते।

और हिंदुस्तान के मुस्लिम समुदाय धर्म से आग्रह करता हूं, आप हिंदुस्तान के मुस्लिम है और पाकिस्तान के मुस्लिम समुदाय से अपना कम्पेयर न करे और पाकिस्तान के गुणगान या आंतरिक सहयोग बिल्कुल न करे क्योंकि आपका जन्मभूमि भारत है। और आप सुरक्षित है। आपका स्वतंत्रता देश के संविधान है। अगर आपके अपने भारत देश भूमि को बिगाड़ने में असामाजिक तत्व के इंसान दिखते है, तो उसे नेस्तनाबूद या खण्डन जरूर करे। 

और हिंदुस्तान के हिंदू धर्म समाज या अन्य धर्म समाज हिंदुस्तान के मुस्लिम समुदाय धर्म समाज के मुसलमान भाई एवं बहनो का सहयोग मिलजुल कर प्रेम शान्ति से करे अगर कोई गलत होता है तो उनके लिए भारत देश के संविधान है जो सजा देने के लिए कॉफी है। बस हम सभी भारतीय एक रहे नेक रहे ।