dehaze
language


बच्चो की शिक्षा हमारे घरेलू वातावरण से निर्मित होती है जैसे हम शुसभ्य है वैसे ही हमारे बच्चे भी शुसभ्य ही बनेंगे क्योकि शिक्षा एक " इको सिस्टम " है, और आज हमारे देश मे शिक्षा मशीनी रूप ले लिया है। और प्रकृति से जुड़ना भी शिक्षा का महत्वपूर्ण अंग है।:- नया भारत...



NBL..18 सितंबर 2021 नया भारत न्यूज से. लोकेश्वर प्रसाद वर्मा. अपने सज्जन प्रिय पाठकों के लिए शिक्षा, ज्ञान विषय लेख न्यूज लेकर आये है, खबर पढ़े आगे विस्तार से...

शिक्षा का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है कि यह एक प्रोडक्शन लाइन नही है। यह एक जैविक ( आर्गेनिक ) घटना है। देखिए, हम आज जिस समाज मे रहते है, उस समाज से स्वतंत्र होकर आप कोई शिक्षा व्यवस्था तैयार नही कर सकते।

हम फिनलैंड से कुछ सिद्धांत ले सकते है, लेकिन फिनलैंड हर ओर से महासागर से घिरा हुआ है। अमेरिका भी उससे अलग है। आप कभी भी अपने आसपास के इको- सिस्टम से अलग होकर एक शिक्षा व्यवस्था नही विकसित कर सकते।

एक सवाल हम सब को खुद से जरूर पूछना चाहिए कि ' क्या एक समाज के तौर पर हम एक ऐसा इको-सिस्टम तैयार करने को इच्छुक हैं, जो एक बच्चे को उसके सबसे बेहतर तरीके से विकसित करने के लिए सटीक हो ?

क्या हम वो करने जा रहे हैं, जो हमे अच्छा लगता है या फिर हम इसे लेकर जागरूक है कि हम जो कुछ भी करेंगे, वो हमारी आने वाले पीढ़ियों को प्रभावित करेगा। यह एक महत्वपूर्ण चीज है, जिस पर हमें गौर करने की जरूरत है।

चूँकि किसी बच्चे को शिक्षित करना, सिर्फ टीचर या केवल स्कूल या बस अभिभावकों ( माता, पिता ) का ही काम नही है, उनका सीखना हर वक़्त, हर जगह चलता है। इसलिए जो कुछ भी हम कर रहे हैं उसके प्रति हमारा रवैया और जिम्मेदार होना चाहिए, उसके प्रति हमारे भीतर चेतना होनी चाहिए।

हम जो भी करते है उसे हमारे बच्चे देखते है। इस पहलू पर हमें ध्यान देने की जरूरत है।

हमारे देश मे आज शिक्षा ने मशीनी रूप ले लिया है और प्रकृति से जुड़ना शिक्षा का महत्वपूर्ण अंग है।

आमतौर पर माना जाता है कि दुनिया मे फिलहाल सबसे अच्छी शिक्षा प्रणाली फिनलैंड की है। फिनलैंड पिछले चालीस सालो में दुनिया की सबसे बेहतरीन शिक्षा व्यवस्था बन गया, जहाँ विद्यार्थियों की उपलब्धियां है, बच्चे अपनी पढ़ाई बीच मे नही छोड़ते, उनको पढ़ाई से सन्तुष्टि मिलती है।

टीचर्स के लिए भी एक सम्मान है, अभिभावक ( माता- पिता ) भी सन्तुष्ट है। और इन सबसे उनके समुदायों में एक स्थायित्व है। इन वजहों से वहां की शिक्षा व्यवस्था एक उदाहरण बन गई है। जितने भी अंतराष्ट्रीय शिक्षा सूचकांक है, वे दिखाते हैं कि फिनलैंड टेस्टिंग के मामले में सबसे ऊंचे स्थान पर है।

फ़िनलैंड की शिक्षा व्यवस्था कम्पीटीशन पर नही, बल्कि कोलैबोरेशन यानी सहयोग पर आधारित है। वहां स्कूल आपस मे मिलकर काम करते हैं, टीचर्स मिलकर काम करते है, यूनिवर्सिटी स्कूल के साथ, अभिभावकों ( माता- पिता ) के साथ मिलकर काम करती है।

वहाँ बस हाईस्कूल की आखिरी परीक्षा को छोड़कर कोई मानक परीक्षा नही होती। इतना ही नही, वहाँ ग्रेजुएशन की दर लगभग 100 फीसदी है। तो ऐसा नही है कि हमे फिनलैंड की सारी चीजें भारत मे लागू कर देनी चाहिए। 

असली चीज है कि सिद्धान्तों का इस्तेमाल होना चाहिए और ये सिद्धांत बेहद बेबाक और स्पष्ट है। आधुनिक शिक्षा की शुरुआत ओद्योगिक क्रांति से हुई है और आप इसे देख सकते है।



 

 


प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने नयाभारत के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें
Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.



खबरें और भी

T20 World Cup 2021: आज से शुरू होगी टी-20 वर्ल्ड कप में बादशाहत की जंग,भारत-पाकिस्तान के बीच टी-20 वर्ल्ड कप में होगी भिड़ंत…इस दिन होंगे आमने-सामने….देखिये T-20 वर्ल्ड कप का पूरा शेड्यूल……..

ब्रेकिंग: सरकार ने गर्भपात को लेकर बनाया नया नियम : इतने महीने तक गर्भपात कराने की अनुमति, जानें किन मामलों में होंगे लागू, सरकार का नया कानून कई महिलाओं को नया जन्‍म देगा….सरकार ने निर्धारित कर दी शर्तें…जानिये क्‍या हैं नए प्रावधान…..

CM भूपेश जाएंगे मुरिया दरबार: आज और कल इस जिले के प्रवास पर रहेंगे CM भूपेश.... कई परियोजनाओं का करेंगे लोकार्पण.... संगठन के नेताओं से होगी चर्चा.... देखें पूरा शेड्यूल......

CG- गार्ड को तीसरे माले से फेंका: गार्ड करता था चोरी.... साथी ने टोका तो पत्थर से कुचला.... चोरी करने से रोका तो तीसरे माले से फेंक मार डाला.... आरोपी गिरफ्तार......

8 मौतें बिग ब्रेकिंग :- भारी बारिश ने लाई तबाही, लगा लाशों का ढेर,बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, अब तक 8 की मौत, कई लापता, बचाव के लिए सेना और NDRF की टीमें तैनात,देखें बारिश से तबाही का फ़ोटो VIDEO……