बब्बर शेर को कोरोना: देश में पहली बार इंसानों से जानवरों में फैला कोरोना… नेहरू जूलॉजिकल पार्क के आठ एशियाई बब्बर शेर कोरोना संक्रमित… पार्क बंद… मचा हड़कंप….

हैदराबाद 4 मई 2021। हैदराबाद में नेहरू जूलॉजिकल पार्क में रखे गए 8 एशियाई शेरों को SARS-COV2 वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया है। इनमें चार शेर और बाकी शेरनियां हैं। चिड़ियाघर में उन्हें आइसोलेट कर दिया गया है। सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलेक्युलर बॉयोलाजी ने 29 अप्रैल को नेहरू जूलॉजिकल पार्क के अफसरों को इस बात की जानकारी दी कि आरटी-पीसीआर टेस्ट में 8 शेर पॉजिटिव पाए गए हैं।

पार्क के डायरेक्टर का कहना है कि शेरों में कोरोना के लक्षण दिखे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हमें अभी इन शेरों की CCMB से आरटी-पीसीआर रिपोर्ट मिलनी बाकी है। रिपोर्ट मिलने के बाद इस बात की जानकारी दी जाएगी। सूत्रों का कहना है कि 24 अप्रैल को पशु चिकित्सों ने इन जानवरों में कोरोना के लक्षण देखे थे। जैसे-भूख न लगना, नाक से पानी आना और कफ की शिकायत इन जानवरों में पाई गई थी। नेहरू जूलॉजिकल पार्क में करीब 10 की उम्र के 12 शेर हैं।

पिछले साल अमेरिका और कुछ यूरोपीय देशों के चिड़ियाघरों में कुछ जीव कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उसके बाद कई महीनों तक ऐसी कोई खबर नहीं आई थी। भारत में पहली बार जानवरों के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर आई है। अभी तक इस बात के सबूत नहीं मिले हैं कि जानवरों से इंसानों में कोरोना का संक्रमण फैला हो।

सेंट्रल जू अथॉरिटी ने भी हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क को गाइडलाइंस भेजी हैं। साथ ही ये भी बताया है कि इस समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं। फिलहाल चिड़ियाघर को बंद कर दिया गया है। यहां आम लोगों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इन शेरों की सेहत और निगरानी के लिए इंडियन वेटरीनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट उत्तर प्रदेश, सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी की लेबोरेटरी फॉर कंजरवेशन ऑफ एनडेंजर्ड स्पीसीज लगातार नजर बनाए हुए हैं।

CCMB की जांच में पता चला है कि इन आठों शेरों में चिंता पैदा करने वाला संक्रमण नहीं है। क्योंकि इनके शरीर में कोरोना का कोई नया वैरिएंट नहीं है। इन शेरों के खाने-पीने में कोई कमी नहीं है। इनकी दवाइयां चल रही हैं। ये सामान्य व्यवहार कर रहे हैं। चिड़ियाघर के कर्मचारियों के लिए सभी सुरक्षात्मक कदम उठा लिए गए हैं। साथ ही उन्हें कुछ गाइडलाइंस दी गई है, जिनका पालन करने को कहा गया है।

Spread the love