महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने की सूर्य पुत्री तापी नदी में यज्ञ भस्मि प्रवाहित

महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने की सूर्य पुत्री तापी नदी में यज्ञ भस्मि प्रवाहित

भीलवाड़ा। वर्ष 2020 में कोरोना महामारी से निजात हेतु किए गए शतचंडी यज्ञ व जून 2020 गंगा दशहरे पर पूर्णाहुति यज्ञ की भस्मि को गुजरात यात्रा पर गए हरी शेवा धाम उदासीन आश्रम सनातन मंदिर के महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम जी उदासीन ने सूर्य पुत्री तापी नदी में 4 जुलाई 2021 को प्रवाहित किया। महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने बताया कि यज्ञ हवन की भस्मि को वैदिक मान्यता अनुसार पवित्र सरोवर नदियों में प्रवाहित करने की परंपरा रही है, इसी श्रृंखला में यह भस्मि प्रवाहित की जा रही है। इससे पूर्व भी भस्मि को माँ गंगा, माँ यमुना, पुष्कर तीर्थराज आदि जैसी पवित्र नदियों सरोवर में प्रवाहित किया गया है। शेष भस्मि को माँ नर्मदा में विसर्जित कर पूर्ण विराम दिया जाएगा। पिछले वर्ष की भाँति इस वर्ष भी हरी शेवा आश्रम भीलवाड़ा में 51 दिवसीय शतचंडी यज्ञ चल रहा है जिसकी पूर्णाहुति 15 जुलाई 2021 को होकर विराम दिया जाएगा। स्वामी जी के साथ सूरत के अशोक आहूजा, दिनेश आहूजा, सुरेश आहूजा, शिष्य जगतराम व सारथी श्याम जाट ने भी भस्मि प्रवाहित की।