Video: इंसानो को काटने के बाद मधुमक्खी क्यों करती है आत्महत्या…अमरीकी वैज्ञानिको ने ढूंढा इसका रहस्य,देखिए विडियो….

नया भारत डेस्क : मधुमक्खी के छत्ते से निकलने वाला शहद कितना ज्यादा लाभदायक होता है ये बात तो आप सभी जानते है

लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर कभी किसी Honey Bee के छत्ते को छेड़ा जाए तो फिर उसके ढंग से बचा नहीं जा सकता..वही इसके डांक की वजह से कई लोगो की मौत भी हो जाती है

लेकिन आप ये बात नहीं जानते होंगे कि अगर किसी Honey Beeने कभी  किसी इंसान या किसी जानवर को एक बार काट लिया तो काटने के तुरंत बाद  मधुमक्खी की मौत हो जाती है,

​​​​​​

 

6sxrgo

जी हां वो जिंदा नहीं रहती इसी तरह इनकी एक और हैरान करने वाली बात ये है, की नर  मधुमक्खी एक बार सम्बन्ध बनाने के बाद तुरंत मर जाता है, लेकिन ऐसा क्यों होता है चलिए जानते हैं

 

वीडियो 

 

 

कितनी खतरनाक होती है मधुमक्खी ?

दोस्तों कहते हैं कि मधुमक्खी के छत्ते के आसपास भी भटकना खतरे से खाली नहीं है क्योंकि मधुमक्खियों का डंक काफी ज्यादा जहरीला होता है

लेकिन जब ये किसी इंसान को काटती है तो उसका स्ट्रिंगर यानी कि उसका डंक इंसान के शरीर में जाने के बाद टूट जाता है इसकी वजह से उसकी मौत हो जाती है,

लेकिन कई बार मधुमक्खियां अपने इस डंक को  बाहर खींचने की कोशिश करती है हालांकि वो ऐसा कर नहीं पाती लेकिन इस जोर जबरदस्ती की वजह से उसकी आंत उसकी मांस पेशियां उसका पाचन तंत्र पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो जाता है,


 

क्योँकि उसके शरीर के ये सारे ऑर्गन्स उसके डंक  से जुड़े होते है, इसी वजह से एक मधुमक्खी की मौत हो जाती है

लेकिन आपको बता दें कि मधुमक्खी कभी भी जानबूझकर किसी को नहीं काटती बल्कि वो ऐसा तब करती है जब उसके छत्ते पर कोई खतरा मंडराता है

जैसे ही उसे अपने  छत्ते के आसपास कोई खतरा महसूस होता है तब ये झुंड बनाकर तुरंत हमला कर देती है, और इसके बाद खेल ख़त्म

 

मधुमक्खियों के छत्तो मे कितनी मधुमक्खियां रहती है ?

इनके लिए सब कुछ होता है, मधुमक्खियां इन छतो  मे कॉलोनियां बनाकर रहती है, हर एक छत्ते मे  30 से 80 हजार मधुमक्खियां होती है जिनमें करीब सौ नर मधुमक्खियां होती है, 

वहीं एक  रानी मधुमक्खी होती है लेकिन हैरानी की बात ये है कि जब भी कोई नर मधुमक्खी किसी मादा मधुमक्खी के साथ संबंध बनाती है तब अचानक उसका अंडकोष फट जाता है पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो जाता है,

इस वजह से  नर मधुमक्खी की मौत हो जाती है, वैसे ये है तो बहुत अजीब लेकिन अपने वंश और अपनी प्रजाति को आगे बढ़ाने के लिए इन्हें ऐसा जानबूझकर करना पड़ता है

मधुमक्खियां इंसानो के लिए क्यो जरुरी है ?

इसी तरह आप ये भी नहीं जानते होंगे कि मधुमक्खियां हमारी प्रकृति के लिए कितनी जरूरी है, इन्हीं की मदद से पौधों का विकास होता है, ये फूलों में मौजूद pollen और नेक्टर को खाती  है,


 

इनकी वजह से  पौधों के बीज उत्पन्न होते है, और फूलो से भरा हुआ एक खूबसूरत जंगल तैयार होता है, लेकिन हम इंसानो को ये सब कहा पसंद है, इंसान इन्हे उजाड़ कर जंगल काटेंगे फिर वहा इमारते कड़ी करेंगे

 

मधुमक्खियां अलग-अलग फूलों की पहचान कैसे करती है

असल में  इनके शरीर में 170 odorant receptors होते हैं, यानी कि इनके सूंघने की शक्ति कहीं ज्यादा होती है अपनी इसी ताकत की वजह से ये अलग-अलग प्रकार के फूलों की महक को अच्छी तरह से पहचान लेती है,

लेकिन इसके अलावा  ये गजब की पायलट भी है जी हां ये 25 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़  सकती है साथ ही इनके पंख एक सेकंड में 200 बार फड़फड़ा सकते है

 

मधुमक्खियों की उम्र कितनी होती है ?

लेकिन अफ़सोस की बात ये है की इनकी  जिंदगी ज्यादा से ज्यादा छह हफ्तों की होती है लेकिन इन छह हफ्तों में एक मधुमक्खी एक चम्मच के 12 हिस्से जितना शहद बनाती है

वही दूसरी तरफ एक रानी मधुमक्खी 5 सालों तक जिंदा रहती है और  रानी मधुमक्खी एक दिन में करीब 3000 अंडे दे सकती है

 

मधुमक्खियों के छत्ते से शहद नीचे क्योँ नहीं गिरता ?

वैसे कभी आपने  किसी मधुमक्खी के बड़े से छत्ते को देखा है आपको बता दें  कि एक बड़े से मधुमक्खी के छत्ते के अंदर बहुत सारा शहद होता है लेकिन सोचिये  कि आखिर इतना सारा शहद नीचे क्यों नहीं गिरता ऐसा इसलिए है

क्योंकि मधुमक्खियां अपने इस छत्ते  को खुद बनाती है इनके शरीर से मोम जैसा पदार्थ निकलता है इसी मोम जैसे पदार्थ से इनका chaata  तैयार होता है और मोम जैसे टेक्सचर की वजह से इसमें मौजूद शहद जमीन में नहीं गिरता

 

शहद कभी ख़राब क्योँ नहीं होता ?

लेकिन एक हैरान करने वाली बात ये है कि मधुमक्खियों का शहद कभी खराब नहीं होता क्योँकि इसमें कुछ ऐसे एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं

जिसकी वजह से अगर किसी शहद को 2000 सालों तक जमीन के अंदर गाड़ कर भी रख दिया जाए तो भी वो कभी खराब नहीं होगा

तो आपने देखा की  एक छोटा सा कीड़ा एक मधुमक्खी हम इंसानों को कितना कुछ देकर जाती है लेकिन हम इंसान क्या करते हैं हम जंगलों को काटते हैं इनके छत्तो को तोड़ते हैं और इनके बरसों की मेहनत को सिर्फ कुछ मिनटों में खत्म कर देते हैं

Conclusion

लेकिन आप इनकी मेहनत को ज़ायर  ना होने दें  लोगों तक इस Article को  शेयर करें ताकि लोगों को भी पता चले कि एक मधुमक्खी पुरे जीवन मे कितनी ज्यादा मेहनत करती है तो मिलते हैं दोस्तों एक अगले वीडियो के साथ वीडियो अच्छा लगे तो इसे लाइक और शेयर जरूर कीजिएगा


20221103-112153

 

  

 

 


प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने नयाभारत के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें
Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.

खबरें और भी
27/Nov/2022

CG School News: स्कूली छात्रों के बाइक-कार लेकर स्कूल आने पर लगी रोक…सभी शासकीय, अशासकीय स्कूलों को जारी हुआ निर्देश….

27/Nov/2022

CG:दुर्ग संभाग से बड़ी खबर बालोद जिला जेल से फरार दो विचाराधीन कैदी मामले की जांच शुरू...प्रहरी को किया निलंबित...पढिए पूरी खबर…

27/Nov/2022

CG:कलेक्टर द्वारा गोद लिए आदर्श गौठान ग्राम सांकरा में गौ तस्करी की आशंका..मामला बेरला जनपद पंचायत क्षेत्र सांकरा ग्राम पंचायत का

27/Nov/2022

भारत जोड़ों यात्रा: बाइक में सवार राहुल गांधी के साथ दौड़ते दिखाई दिए भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव…

27/Nov/2022

वही  सुबह से ही महापौर सफीरा साहू ,आयुक्त दिनेश कुमार नाग ने मोर्चा संभालते शहर में 48 वार्डो जनमानस को पेयजल की समस्या उत्पन्न ना हो उस उद्देश्य से सुबह महापौर व आयुक्त ने निगम के नियमित पीएचई कर्मचारियों से वार्डो में घूम कर पंप चालू करवा कर पानी की सप्लाई करवाई